Computer Kya hai- What is Computer In Hindi

Computer Kya hai- What is Computer In Hindi: साथियों आज के इस लेख में हम जानेंगे की कंप्युटर क्या है? इसका क्या महत्व है और इसके कौन कौन पार्ट्स होते हैं । पिछले लेख में हमने माउस के बारे में पढ़ा था । आप उस लेख को जरूर पढ़ें ।

आप सभी जानते हैं की कंप्युटर की डिमांड दिन पर दिन बढ़ता ही जा रहा है-ऑफिस हो, स्कूल हो, हास्पिटल हो , दुकान हो , मॉल हो या बड़े बड़े कॉम्पनियाँ हो हर जगह इसका इस्तेमाल बड़े पैमाने पर किया जाता है ।

आज से कुछ वर्ष पहले कंप्युटर का प्रयोग आम इंसान के बस से बाहर था, क्योंकि पहले कंप्युटर बहुत महंगे होते थे और इसका प्रयोग Complex Calculation के लिए होता था । आपको बता दें की कंप्युटर एक प्रोग्रामिंग की जाने वाली मशीन होती है।

पहले कंप्युटर का प्रयोग बड़ी बड़ी कंपनियां करती थीं । कंप्युटर आज की तुलना में बहुत बड़े बड़े होते थे । इनकी साइज एक बड़े कमरे के बराबर होता था ।

लेकिन आज के समय में तो घर घर कंप्युटर मोबाईल की तरह हो गए हैं । इसको चलाना भी बहुत आसान हो गया है । लेकिन ये संभव बात सिर्फ CPU के कारण हो पाया है क्योंकि ये माइक्रो प्रोसेसर ने इसको संभव बनाया है । अब तो कंप्युटर और लैपटॉप हमारे गोद में खेलते हैं ।

कंप्युटर शब्द की उत्पत्ति ‘कम्प्यूट’ से हुई है और इसका अर्थ होता है ‘गणना’ करना या कलकुलेशन करना । हमारे बीच कंप्युटर आने से लोगों का जीवन बहुत सरल हो गया है।  काम करने का ढंग बदल गया है। अब दिनों का काम सेकेंडों में संपनन होता है ।

Computer में जब हम कोई काम करते हैं यानि हम जब Computer को कोई निर्देश देते हैं तो उसे Input देना कहते हैं फिर उस input को हमारा Computer प्रोसेस करता है और चंद सेकंड में उस input का जवाब हमे Output में देता है.

जब भी हम कंप्युटर में कोई काम करते हैं या जब हम कंप्युटर को किसी प्रकार का निर्देश देते हैं तो इस प्रक्रिया को इनपुट कहा जाता है । इस इनपुट को हमारा कंप्युटर प्रोसेस करता है और आउटपूत के रूप में इसका जबाव देता है ।

कंप्युटर का हर काम command के माध्यम से होता है । कंप्युटर को कमांड सॉफ्टवेयर और प्रोग्राम से मिलता है । इसको बनाने वाले को प्रोग्राममर कहते हैं । इस प्रोग्राम को प्रयोग करने वाले यूजर्स कहलाते हैं जैसे की हम आप ।

अब हम कंप्युटर से हर एक काम कर सकते हैं । इसने जीवन को बहुत ही आसान कर दिया है । इसके माध्यम से हम घर बैठे दुनिया से कनेक्ट हो सकते हैं। पूरी दुनिया से बात कर सकटे हैं ।  

Computer कितने प्रकार होते हैं?

माइक्रो कंप्युटर अथवा पर्सनल कंप्युटर

1970 ईस्वी में इस कंप्युटर का विकास हुआ था । यह आकार प्रकार में बहुत छोटा होता है । इसको हम डेस्क या ब्रीफकेस में भी रख सकते हैं अतः इसको माइक्रो कंप्युटर कहते हैं । इसका प्रयोग हम व्यक्तिगत काम के लिए करते हैं । इस लिए इसको पर्सनल कंप्युटर कहते हैं ।

इसका प्रयोग बड़े बिजनस में वर्ड प्रोसेसिंग एव फ़ाईलिंग प्रणाली के लिए किया जाता है और छोटे बिजनस में काउंटिंग के लिए किया जाता है और इसके अलावा इसका प्रयोग इंटरटैनमेंट के लिए भी किया जाता है ।

मिनी कंप्युटर

मिनी कंप्युटर आकार प्रकार में माइक्रो कंप्युटर से बड़ा होता है । इसमें एक से ज्यादा CPU होता है इसकी स्पीड भी माइक्रो कंप्युटर से ज्यादा होता है । इसका प्रयोग एक समय में एक से ज्यादा लोग प्रयोग कर सकते हैं । इसका इस्तेमाल बड़ी बड़ी कॉम्पनियों में या बड़े बड़े बैंकों में किया जाता है ।  

वर्कस्टेशन कंप्युटर

यह कंप्युटर इंजीनियरिंग अप्लीकेशन, डेस्कटॉप पब्लिशिंग, सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट और दूसरी इसी तरह के अप्लीकेशन्स के लिए किया जाता है । इसको कंप्युटर पावर और हाई क्वालिटी ग्राफिक्स की आवश्यकता पड़ती है ।

वर्कस्टेशन कंप्युटर सामान्य तौर पर एक लार्ज हाई रएजुलेशन ग्राफिक्स स्क्रीन लार्ज अमाउन्ट और रैम इनबिल्ड नेटवर्क और ग्राफ़िकल यूजर इन्टरफेस के साथ जुड़ कर आते हैं ।

वर्कस्टेशन कंप्युटर में युनीक और विंडो एंट्री ऑपरेटिंग सिस्टम का प्रयोग किया जाता है और ये एक सिंगगल यूजर कंप्युटर होते हैं उदाहरण के लिए पीसी एक सिंगगल यूजर कंप्युटर होता है और इसको एक समय में एक ही आदमी चला सकता है ।

मेनफ्रेम कंप्युटर

इसकी प्रोसेसिंग पावर मिनी कंप्युटर से ज्यादा होती है और आकार प्रकार में बड़े होते हैं और इसमें ज्यादातर मात्रा में डेटा को फास्ट स्पीड से प्रोसेस की कैपेसिटी होती है ।

इसलिए बड़ी बड़ी कॉम्पनियों में या बैंक में या सरकारी डिपार्ट्मन्ट में इसका प्रयोग किया जाता है । इसका प्रयोग सेंट्रल कंप्युटर के रूप में किया जाता है । इस पर एक साथ हजारों लोग काम एक साथ कर सकते हैं । इसको एक माइक्रो कंप्युटर से जोड़ा जा सकता है-BM 4381, ICL 39 सीरीज और CDC साइबर सीरीज इसके कुछ इग्ज़ैम्पल है ।

सुपर कंप्युटर

Super Computer एक Special Computer है जोकि जर्नल परपस Computer की तुलना में बहुत हाई लेवल की Calculesan करता है इस लिए ही Super Computer उस Computer सिस्टम को कहा जाता है जो की किसी भी समय में सभी अवलेबल Computer सिस्टम की तुलना में सबसे तेज़ और pawer full होता है.

सुपर कंप्युटर के स्पेसल कंप्युटर होता है जो की पर्सल कंप्युटर के तुलना में बहुत ही High level का कैलकुलेशन करता है अतः इसे सुपर कंप्युटर कहा जाता है जो सभी कंप्युटर से स्ट्रॉंग होता है ।

इसकी स्पीड और मेमोरी के मामले में देखा जाय तो किसी भी अन्य कंप्युटर से और उसके Generation के किसी भी अन्य कंप्युटर से बहुत ज्यादा होती है । इसका प्रयोग पॉवर और फास्ट प्रोससेसिंग के साथ रियल टाइम टास्क परफॉर्मेंस करने आदि के लिए किया जाता है । 

इसका प्रयोग Weather fore Casting, Cord Breaking, Genetic Analysis और दूसरे केलकुलेशन के लिए किया जाता है । यह बहुत ही महंगा होता है अतः इसको बनाना और इस्तेमाल करना आसान नहीं है ।

Super Computer कहा कहा पर काम में आता है

सुपर कंप्युटर का प्रयोग कहाँ किया जाता है इसको जानना बहुत जरूरी है । सुपर कंप्युटर Quantum Mechanics, Weather fore casting, Molecular Modelling, Fluid Dynamic, Petroleum Florence, Animated Graphic आदि कामों को करने के लिए किया जाता है । साथियों आज के इस लेख में हमने जाना की कंप्युटर क्या है, यह कितने प्रकार का होता है, इसका महत्व क्या है, इसका इस्तेमाल कहाँ किया जाता है, इसके कितने पार्ट्स होते हैं और इसकी उपयोगिता क्या है और इससे हमारा जीवन कितना आसान हुआ है । आदि बातों के बारे में हमने इसका प्रयोग किया है ।

Leave a Comment