Rajasthan Inter Caste Marriage Scheme 2023|अंतर्जातीय विवाह करने पर देगी 10 लाख रुपये

अब राज्य सरकार ने एक और बड़ा ऐलान किया है. सामाजिक समरसता और एकता बढ़ाने के उद्देश्य से सरकार ने अंतर्जातीय विवाहों (Inter Caste Marriage) की प्रोत्साहन राशि को दोगुना कर दिया है|हमारे समाज में आज भी इंटरकास्ट मैरिज का विरोध देखा जा सकता है. लेकिन सामाजिक समरसता कायम करने और अस्पृश्यता निवारण के लिए सरकारें काम कर रही हैं. राजस्थान में गहलोत सरकार ने अंतर्जातीय विवाह को लेकर एक बड़ा ऐलान किया है|

सीएम अशोक गहलोत ने इंटरकास्ट मैरिज पर प्रोत्साहन राशि बढ़ाने का ऐलान करते हुए अब राशि को 10 लाख रुपए कर दिया है. पहले यह रकम 5 लाख रुपये थी. बताया जा रहा है, की राजस्थान में सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग द्वारा संचालित डॉ. सविता बेन अंबेडकर इंटरकास्ट मैरिज स्कीम के अंतर्गत इंटरकास्ट मैरिज पर प्रोत्साहन राशि को बढ़ा कर 10 लाख रुपये कर दी जाएगी|

Rajasthan Inter Caste Marriage Scheme

बता दें कि राजस्थान से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने हाल ही में विधानसभा में पेश किए गए बजट 2023-24 में इस राशि को बढ़ाने का ऐलान किया था. सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग (Social Justice and Empowerment Department) ने अब इसका नोटिफिकेशन जारी कर दिया है|

Inter caste marriage scheme के तहत राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राशि बढ़ाने वाले प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है. स्कीम के तहत 5 लाख रुपये 8 साल के लिए फिकस्ड डिपॉजिट कराएं जाएंगे. शेष 5 लाख रुपये ज्वाइंट बैंक अकाउंट में जमा कराए जाएंगे. गहलोत द्वारा 2023-24 के बजट में इस संबंध में घोषणा की गई थी|

Aatm Nirbhar Bharat Abhiyan Yojana

What is Rajasthan Inter Caste Marriage Scheme 2023

इस इंटरकास्ट मैरिज स्कीम के तहत राजस्थान में गहलोत सरकार आर्थिक सहायता प्रदान करती है. अनुसूचित जाति वर्ग के युवक अथवा युवती जिसने किसी सवर्ण हिन्दू युवक अथवा युवती से विवाह किया हो तो उसे इस योजना का लाभ मिलेगा| इसके साथ ही वर और वधु राजस्थान के मूल निवासी होने चाहिए. जोड़े में से किसी की भी आयु 35 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए| किसी आपराधिक मामले में दोषसिद्ध नहीं होना चाहिए और अविवाहित भी होना चाहिए|

विवाह के 1 महीने के भीतर आवेदन करने पर लाभार्थी को प्रोत्साहन राशि दे दी जाती है|अंतरजातीय विवाह करने वाले युगल के विवाह के प्रमाण स्वरूप सक्षम प्राधिकरण या अधिकारी कार्यालय से जारी विवाह पंजीयन प्रमाणपत्र प्रस्तुत करना होगा. साथ ही युगल की संयुक्त आय 2.50 लाख रुपये से अधिक नहीं होनी चाहिए|

जन सूचना पोर्टल राजस्थान 2023

अंतरजातीय विवाह योजना की पात्रता

  • विवाह की दिनांक से एक वर्ष की अवधि में आवेदन प्राप्त होने पर योजना के तहत लाभ देय होगा। युवक-युवती के प्रथम विवाह पर ही योजना का लाभ मिलेगा।
  • अतरंजातीय विवाह करने वाले युगल विवाह के प्रमाण स्वरुप सक्षम प्राधिकरण अथवा अधिकारी के कार्यालय से जारी विवाह पंजीयन प्रमाण पत्र हो।
  • योजना के तहत युवक-युवती में से कोई एक अनुसूचित जाति वर्ग का होना चाहिए। किसी की भी आयु 35 वर्ष से अधिक न हो, वे किसी आपराधिक मामले में दोषी न पाए गए हों।
  • युगल की संयुक्त आय ढाई लाख रूपए वार्षिक से अधिक न हो। ऐसे युगल केंद्र एवं राज्य सरकार की समानंतर योजना में कोई आर्थिक लाभ प्राप्त नहीं किया हो।

इसे भी जरूर पढ़ें: राजस्थान पालनहार योजना

Rajasthan Inter Caste Marriage Scheme कहां करें आवेदन?

अंतर्जातीय विवाह स्कीम में प्रोत्साहन राशि प्राप्त करने के लिए अभ्यर्थी द्वारा विभागीय SJMS पोर्टल पर ऑनलाइन आवेदन करना होगा. स्कीम की विस्तृत जानकारी एवं आवेदन पत्र www.sje.rajasthan.gov.in पर आपको आसानी से मिल जाएगा|

  • वहां क्लिक करने से https://sso.rajasthan.gov.in/signin पोर्टल पर पहुंचेंगे।
  • नए यूजर्स को Registration लिंक पर क्लिक करके पहले अपना पंजीकरण करवाना जरूरी है। https://sso.rajasthan.gov.in/register
  • जिसके बाद SSO ID ओपन होने के बाद ‘Citizen’ सेक्शन पर क्लिक करके SJMS Application के लिंक पर क्लिक करना है।
  • Application फॉर्म में पूछी गई जानकारी ठीक से भर कर सबमिट के बटन पर CLICK कर देना है।

इसे भी जरूर पढ़ें:- खाद्य सुरक्षा योजना राजस्थान फॉर्म PDF

क्या राजस्थान में अंतरजातीय विवाह के लिए पैसे मिलते हैं?

राजस्थान सरकार रुपये के साथ अंतरजातीय विवाह को बढ़ावा देती है। 10 लाख इनाम ।

जानिए क्‍या है राजस्‍थान सरकार की अंतरजातीय विवाह स्‍कीम

सविता बेन अंबेडकर इंटरकास्ट मैरिज स्कीम तहत अगर कोई दलित युवक या युवती किसी सवर्ण हिंदू युवक या युवती से अंतरजातीय विवाह करता है तो उसे राजस्‍थान सरकार की तरफ से उसे अब 10 लाख रुपए की मदद दी जाएगी. इस स्‍कीम के तहत मिलने वाले 10 लाख रुपए दो हिस्‍सों में बांटा जाएगा

इंटर कास्ट मैरिज कैसे करें?

अपनी शादी को कानूनी रूप से मजबूत करने के लिए बेहतर होगा कि आप सबसे पहले आर्य समाज में शादी करें और बाद में उसे कोर्ट में रजिस्टर करावा लें। शादी के लिए आपको अपना आधारकार्ड, पैनकार्ड, और बर्थ सर्टिफिकेट की जरूरत होती है। बर्थ सर्टिफिकेट में दसवी की मार्कशीट सबसे विश्वसनीय डोक्युमेंट होती है।