Mukhyamantri Sukha Rahat Yojana

Mukhyamantri Sukha Rahat Yojana @ msry jharkhand gov in

msry jharkhand gov in|mukhyamantri sukha rahat yojana|jharkhand sukha rahat yojana online apply:झारखंड के स्थापना दिवस समारोह में 7310 करोड़ रुपये की योजना का उद्घाटन व शिलान्यास हुआ. मोरहाबादी मैदान में 15 नवंबर को आयोजित मुख्य समारोह में इस मौके पर सरकार ने तीन नीतियां लांच की गयी. तीन योजनाओं की भी शुरुआत की गयी. किसानों को राहत देने के लिए सूखा राहत योजना के लिए पोर्टल की शुरुआत की गयी. वहीं 945 लोगों को नियुक्ति पत्र दिया गया. मौके पर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन व अन्य अतिथियों ने सांकेतिक रूप से कुछ लोगों को नियुक्ति पत्र दिया|

जिला प्रशासन ने झरिया को छोड़कर जिले के सभी नौ प्रखंडों को सूखा क्षेत्र घोषित किया है. इन क्षेत्रों से जुड़े किसान मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना का लाभ ले सकते हैं. वैसे किसान जो कृषि पर निर्भर है तथा जिनकी फसल 33% से अधिक क्षति हुई है, भूमिहीन कृषक मजदूर जिनकी कृषि आधारित आजीविका का साधन सुखाड़ से प्रभावित हुआ है, वे भी इस योजना का लाभ ले सकते हैं. इसके लिए उन्हें जिला कृषि विभाग, सीएससी या वीएलई के माध्यम से पोर्टल पर 30 नवंबर तक रजिस्ट्रेशन कराना होगा|

Mukhyamantri Sukha Rahat Yojana

मुख्यमंत्री ने कहा 22 जिलों के 226 प्रखंडों के सभी प्रभावित किसान परिवारों को यह राशि शीघ्र ही उपलब्ध करायी जाएगी. उन्होंने कहा कि कृषि विभाग द्वारा सुखाड़ का आकलन प्रतिवेदन के अनुसार राज्य में 22 जिलों के 226 प्रखंड सूखे की चपेट में है. ऐसे में राज्य सरकार की नैतिक जिम्मेदारी है कि प्रभावित किसान परिवारों को तत्काल सूखा राहत राशि उपलब्ध करायी जाए. उन्होंने कहा कि राज्य के लगभग 30 लाख से अधिक किसान परिवार सूखे की चपेट में हैं जिन्हें इसका लाभ मिल सकेगा|

झारखंड राज्य के 22 जिलों (पूर्वी सिंहभूम एवं सिमडेगा छोड़कर) के 226 प्रखंडों को सूखाग्रस्त घोषित किया गया है | सूखे की स्थिति को देखते हुए 22 जिलों के 226 प्रखंडों के प्रति किसान परिवार को तत्काल सूखा राहत हेतु 3500 रुपए ( अग्रिम ) राशि दी जाएगी। इन 226 प्रखंडों के सभी प्रभावित किसान परिवारों को यह राशि शीघ्र ही उपलब्ध करायी जाएगी। कृषि विभाग द्वारा सुखाड़ का आकलन प्रतिवेदन के अनुसार राज्य में 22 जिलों के 226 प्रखंड सूखे की चपेट में है।
ऐसे में राज्य सरकार की नैतिक जिम्मेदारी है कि प्रभावित किसान परिवारों को तत्काल सूखा राहत राशि उपलब्ध करायी जाए।राज्य के लगभग 30 लाख से अधिक किसान परिवार सूखे की चपेट में हैं जिन्हें इसका लाभ मिल सकेगा।

इसे भी जरूर पढ़ें;-मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना 2022

jharkhand sukha rahat yojana

योजना का नामjharkhand sukha rahat yojana
किस ने लांच कीझारखंड सरकार
लाभार्थीझारखंड के नागरिक
उद्देश्यफसल का नुकसान होने पर आर्थिक सहायता प्रदान करना।
आधिकारिक वेबसाइटजल्द लॉन्च की जाएगी
साल2022

sukha rahat yojana New Updated

धान की खेती में सुखाड़ की मार झेले किसानों को मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना के तहत पैसों का भुगतान शुरू कर दिया गया है. राज्य सरकार ने प्रति एकड़ 3500 रुपये के मुआवजे की घोषणा की थी. इसके तहत जोर शोर से रजिस्ट्रेशन कराया गया था. 29 दिसंबर से किसानों के बैंक खाते में पैसा भेजना शुरू किया गया है. लेकिन कई किसानों को बैंक खाते में अभी तक पैसे नहीं नहीं आए हैं. ऐसे में उन्हें भुगतान का इंतजार है|

16 दिसंबर तक गढ़वा जिले में कुल 177195 लोगों ने मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत  योजना का लाभ लेने के लिए अपना आवेदन किया था, लेकिन प्रशासनिक सुस्त गति के कारण अभी तक मात्र 3176 किसानों के भूमि संबंधी दस्तावेज का सत्यापन हो पाया है|झारखंड सरकार ने किसानों की सुविधा के लिए मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना की शुरुआत की थी. शुरूआती दिनों में योजना पर लोग बढ़ चढ़कर पंजीकरण करवा रहे थे. लेकिन प्रशासनिक सुस्ती की वजह से गढ़वा जिले के किसानों को राशि मिलने में देरी हो सकती है. कृषि मंत्री बादल पत्रलेख की घोषणा के अनुसार हेमंत सोरेन सरकार के तीन साल पूरा होने पर 29 दिसंबर को किसानों के खाते में सूखा राहत की राशि भेजी जानी है, लेकिन धीमी रफ्तार को देखकर लगता है कि जिले के महज 10 प्रतिशत किसानों को भी इस योजना का लाभ नहीं मिल पायेगा.

mukhyamantri sukhad yojana

झारखंड के कृषि मंत्री बादल पत्रलेख ने नेपाल हाउस स्थित एनआईसी सभागार में उपायुक्तों और जिला कृषि पदाधिकारियों से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से विभागीय समीक्षा की. उन्होंने कहा कि अब किसानों को सुखाड़ राहत योजना के लाभ के लिए आवेदन को लेकर 40 रुपये का शुल्क नहीं देना होगा|मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना के तहत 3500 रुपये प्राप्त करने के लिए आवेदन करने वाले किसानों को एक बार फिर प्रज्ञा केंद्र पहुंचकर अंगूठा लगाकर ई केवाईसी की प्रक्रिया पूरी करनी होगी। इसके लिए उन्हें प्रज्ञा केंद्र को किसी प्रकार की राशि का भुगतान नहीं करना होगा। वहीं फसल राहत योजना के तहत आवेदन करने से चूक गए लोग भी इसके लिए प्रज्ञा केंद्र में जाकर नए सिरे से आवेदन कर सकते हैं।

इसे भी जरूर पढ़ें:- झारखंड मुख्यमंत्री रोजगार सृजन योजना 2022

झारखंड सूखा राहत योजना के लाभ तथा विशेषताएं

  • msry jharkhand gov in के अंतर्गत किसानों को प्राकृतिक आपदाओं के कारण फसल पर नुकसान होने पर आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना को सरकार ने प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के स्थान पर आरंभ किया है।
  • इस योजना के अंतर्गत नुकसान की राशि पंजीकृत किसानों को बीमा कंपनी द्वारा प्रदान की जाएगी।
  • सभी किसान जो झारखंड फसल राहत योजना का लाभ उठाना चाहते हैं उन्हें इस योजना के अंतर्गत पंजीकरण करवाना होगा।
  • mukhyamantri sukha rahat yojana के माध्यम से किसानों की आय में वृद्धि होगी तथा वे आत्मनिर्भर बनेंगे।
  • झारखंड फसल राहत योजना के कार्यान्वयन के लिए सरकार द्वारा 100 करोड रुपए का बजट निर्धारित किया गया है।
  • झारखंड फसल राहत योजना के अंतर्गत पंजीकृत किसानों को प्रीमियम की राशि का भुगतान करना होगा।
  • इस योजना को दिसंबर के अंत तक आरंभ कर दिया जाएगा।

Jharkhand Rajya Fasal Rahat Yojana

सूखा राहत योजना के महत्वपूर्ण दस्तावेज (पात्रता)

  • किसान झारखंड का स्थाई निवासी होना अनिवार्य है।
  • वह सभी किसान इस योजना के पात्र होंगे जो पहले से किसी बीमा योजना का लाभ नहीं ले रहे हैं।
  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • किसान का आईडी कार्ड
  • बैंक खाता विवरण
  • निवास प्रमाण पत्र
  • खेत का खाता नंबर/खसरा नंबर के पेपर
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • फोन नंबर
  • आय प्रमाण पत्र

झारसेवा झारखण्ड प्रमाण पत्र

jharkhand sukha rahat yojana online apply

  • सबसे पहले आपको योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है
  • इसके बाद वेबसाइट का होम पेज आपकी स्क्रीन पर खुल जाएगा
  • अब आपको होम पेज पर मौजूद किसान पंजीकरण करें के ऑप्शन पर क्लिक करना है
  • आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा
  • यहां पर आपको एक एप्लीकेशन फॉर्म दिखाई देगा
  • इस एप्लीकेशन फॉर्म में आपको अपनी सभी जरूर जानकारी प्रदान करनी है
  • इसके बाद आपको रजिस्टर के ऑप्शन पर क्लिक करना है
  • इस तरीके से आप सफल आवेदन कर सकते हैं|

इसे भी जरूर पढ़ें:-झारखंड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान 2022

mukhyamantri sukha rahat yojana ekyc

  • राज्य का जो किसान फसल राहत योजना ई-केवाईसी करना चाहता है उसको पहले इस योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना है।
  • इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुलकर आ जाएगा।
  • अब आपको वेबसाइट के होम पेज पर प्रज्ञा केंद्र लॉग इन करें के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने mukhyamantri sukha rahat yojana csc login का पेज खुलकर आ जाएगा।
  • अब आपको इस पेज पर निशुल्क ई-केवाईसी के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • अब आपको अपना आधार कार्ड नंबर दर्ज करना है और घोषणा को सही से पढ़कर कर उसपर क्लिक करना है।
  • इसके बाद आपको प्रोसीड टू ऑनलाइन ई-केवाईसी के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • अब आपको सभी ज़रूरी दस्तावेज़ को अपलोड करना है और सभी जानकारी को जो मालूम की जाएगी सभी दर्ज करना है।
  • इसके बाद आपको सबमिशन के विकल्प पर क्लिक कर ओके पर क्लिक कर देना है।
  • फिर आपको 14 रुपए का शुल्क का भुगतान कर देना है।
  • इस तरह से आप आसानी से इस योजना के तहत ई-केवाईसी आसानी से कर सकते है।
  • नोट- आपको पेमेंट करने का आप्शन दे तभी आपको पेमेंट करना है अन्यथा आपका ई-केवाईसी मुफ्त में हो जायेगा।

mukhyamantri sukha rahat yojana status

  • सबसे पहले आपको मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा।
  • होम पेज पर आपको आवेदक लॉग इन करें के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • क्लिक करते ही आपके सामने लॉगइन पेज खुल जाएगा।
Mukhymantri Sukhad Rahat Yojana
  • इस पेज पर आपको अपना मोबाइल नंबर पासवर्ड एवं कैप्चा कोड दर्ज करना होगा।
  • यह सब दर्ज करने के बाद आपको Login के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इस तरह आप आसानी से मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना के तहत लॉगइन कर सकते हैं।

मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे करें

सबसे पहले मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर विजिट करना होगा।
इस ओपन हुए पेज पर अब आपको अपना यूजरनेम और ईमेल आईडी एवं पासवर्ड दर्ज करना होगा।
इसके पश्चात आपको प्राप्त हुआ कैप्चा कोड दर्ज करना होगा।
त में आपको SIGN IN के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
इस प्रकार मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना के अंतर्गत पंजीकरण करने की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

jharkhand sukha rahat yojana क्या है ?

इस योजना के अंतर्गत यदि किसानों को किसी भी प्राकृतिक आपदा के कारण फसल का नुकसान होता है तो इस स्थिति में बीमा कंपनी द्वारा पंजीकृत किसान को नुकसान की राशि प्रदान की जाएगी। इस योजना का लाभ उठाने के लिए किसानों को प्रीमियम की राशि का भुगतान करना होगा।

झारखंड फसल राहत योजना का उद्देश्य क्या है ?

झारखण्ड फसल राहत योजना का मुख्य उद्देश्य प्राकृतिक आपदाओं के कारण हुए नुकसान में किसानों की आर्थिक सहायता करना है। इस योजना के माध्यम से किसानों की आर्थिक स्थिति में सुधार आएगा तथा वह सशक्त बनेंगे।

1 thought on “Mukhyamantri Sukha Rahat Yojana @ msry jharkhand gov in”

Comments are closed.