PPT Full Form in Hindi | पीपीटी का मतलब क्या होता है ?

PPT Full Form in Hindi: साथियों आज हम आप लोगों के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण और ज्ञानवर्धक ज्ञान लेकर आए हैं जिसका प्रयोग आप लोग आम तौर पर हमेशा करते होंगे । आपने हर जगह इस बात को सुना होगा की पीपीटी क्या होता है, इसका फूल फॉर्म क्या होता है । इसका प्रयोग हम कहाँ करते हैं ।

PPT Full Form in Hindi – PPT Meaning in Hindi

इसको हिन्दी में पावर पॉइंट प्रदर्शन कहते हैं अर्थात प्रस्तुत करना भी कहा जाता है । यह एक तरह से एक्सटेंशन फाइल होता है जो सदैव माइक्रोसॉफ्ट पावर पॉइंट के साथ में एक स्लाईड शो बनाता है ।

PPT क्या होता है?

आपको बता दें की पीपीटी एक तरह से पावर पॉइंट माईक्रोसॉफ्ट का हिस्सा होता है । इसमें यूजर्स PPT फाइल को टेक्स्ट, इमेज, शेप आदि की सहायता से किसी भी ऑब्जेक्ट अथवा सब्जेक्ट को अच्छे से समझने के लिए बनाता है । इस तरह के प्रयोग करने से आपको बहुत ही आसानी हो जाती है ।

पावरपॉइंट सॉफ़्टवेयर में बनाई गई फ़ाइल को पावरपॉइंट प्रस्तुति कहा जाता है। इन प्रस्तुति में स्लाइड को किसी वस्तु या किसी विषय की सहायता से समझाया जा सकता है। पावरपॉइंट में पीपीटी फाइल को प्रभावशाली बनाने के लिए हमें कई उपकरण दिए जाते हैं, ताकि हम एक अच्छा पीपीटी बना सकें। PPT फाइल को पावरपॉइंट के अलावा कई सॉफ्टवेयर्स के साथ एडिट किया जा सकता है।

जब पावरपॉइंट सॉफ्टवेयर में कोई फाइल बनती है तो उसे पावरपॉइंट प्रस्तुति कहा जाता है । जब आप कोई प्रजेंटेशन बनाते हैं तो इसके माध्यम से आप स्लाइड के माध्यम से किसी को बढ़िया से समझा सकते हैं। इसको बनाने से आपका प्रजेंटेशन बढ़िया और दमदार होने लगता है । इसमें बहुत सारे स्लाइड होते हैं जिनके माध्यम से आप ppt बना सकते हैं । इसको आप पावरपॉइंट के अलावा कई प्रकार के साफ्टवेयर के माध्यम से एडिट कर सकते हैं ।

क्या होता है फाइल इक्स्टेन्शन?

एक्सटेंशन के माध्यम से कम्पुटर यह बताने में सहायता करता है की आपकी फाइल किस तरह की है । यह सेव किए गए नाम के अंत में तीन या चार अक्षर होता है । इसमें विंडोज प्रायः प्रत्येक फाइल एक्सटेंशन के लिए एक डिफ़ॉल्ट प्रोग्राम को जोड़ने का काम करता है । उदाहरण के लिए-.doc, .xlsx, (.pptx)

PPT का प्रयोग कैसे किया जाता है?

हर एक कंप्युटर चलाने वाला यूजर्स पीपीटी का प्रयोग कर सकता है।  इसका प्रयोग आप निजी काम करने हेतु, व्यावसायिक काम करने हेतु या प्रोफेशनल काम करने हेतु प्रयोग किया जा सकता है । हालांकि इसका प्रयोग आप ट्रेनिंग के लिए या शिक्षा के क्षेत्र में कर सकते हैं । हालांकि इसका कोई प्रतिबंध नहीं है । जब कोई व्यक्ति कोई प्रोजेक्ट बनाता है तो इसका प्रयोग करता है । इसमें कै स्लाईड होते हैं जो चलाने पर एक एक करके स्टेप बाइ स्टेप चलता रहता है ।

जिसमे Pictures, Text, Shapes आदि की सहायता से एक Presentation यानी पीपीटी फ़ाइल तैयार किया जाता है। ये फ़ाइल Microsoft Office के Power Point Tool की मदद से बनाया जाता है।

इसमें टेक्स्ट, पिककचर या शेप के मध्यमस से प्रजेंटशन तैयार किया जाता है । आप इसको आसानी से बना सकते हैं । ये फाइल माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस के पावर पॉइंट टूल्स के सहायता से बनाया जाता है । अतः अपने ट्रैनिंग को, शिक्षा को या अपने ज्ञान को आसानी से ppt के माध्यम से तैयार कर सकते हैं ।

PPT की क्या विशेषताएं होती हैं?

साथियों अपने किसी तरह के प्रोजेक्ट को सुंदर बनाने के लिए आपके पास एक बहुत ही बेहतर विकल्प PPT होता है । इसका प्रयोग कर आप आसानी से अपने काम को एक अंजाम दे सकते हैं और लोगों को समझा सकते हैं । इससे आपके प्रोजेक्ट को लोगों को समझने में बहुत ही आसानी होगी । हम पीपीटी की कुछ अनोखी बातें बता रहें हैं जिसे आप जरूर देखें ।

डिजाइन टेम्पलेट(Design Templet):- डिजाइन टेम्पलेट के माध्यम से आप तरह तरह के बहुत सारे खूबसूरत टेम्पलेट बना सकते हैं और अपना पसंदीदा प्रोजेक्ट को और सुंदर रूप दे सकते हैं।

स्लाइड(Slide) इसको हम एक उदाहरण से समझते हैं जैसे आपने नोटबुक देखा होगा जिसमें एक पन्ने के बाद दूसरा पन्ना होता है वो भी एकदम प्लेन उसी तरह ppt में भी प्लेन पन्ने होते हैं । ये स्लाईड की तरह प्रयोग में लाए जाते हैं ।

चित्र(पिक्चर) हम अपने प्रोजेक्ट को और बेहतरीन बनाने के लिए अपने प्रोजेक्ट वाले ppt में कुछ चित्र add करते हैं । इस चित्र को हम clip art, computer,या phone में save किए गए पिक्चर के माध्यम से सेव कर सकते हैं ।

आकृति(Shape):- हम अपने प्रोजेक्ट के ppt को और सुंदर और ज्ञानवर्धक बनाने के लिए कुछ संकेत वाले शेप बनाते हैं-arrows,circle,rectangle, triangle आदि । इससे आपका ppt सुंदर तो बनता ही है साथ ही इससे आप आसानी से लोगों तक अपनी बात को रख सकते हैं ।

Animation (एनीमेशन): एनीमेशन का उपयोग करके आप अपने स्लाइड को आकर्षित बना सकते है। इसका उपयोग text, image आदि जैसे घटकों पर effect लाने के लिए किया जाता है।

एनीमेशन(Animation) टेक्स्ट और इमेज के घटकों पर इफेक्ट लाने के लिए और ppt को और अधिक आकर्षक बनाने के लिए आप एनिमेशन का प्रयोग खूबसूरत तरीके से कर सकते हैं।

वीडियो(Video): आप यदि अपने स्लाईड को और अधिक सुंदर और आकर्षक बनाना चाहते हैं तो उसमें आप वीडियो आदि का प्रयोग कर सकते हैं । इससे आपका ppt बहुत ही खूबसूरत बन जाएगा ।

Transition (ट्रांजीशन): पीपीटी के इस फीचर का उपयोग slides को बेहतर और आर्कषक बनाने के लिए किया जाता है। एक slide से दूसरे slide में जाते समय जो effect दिया जाता है उसे transition कहते है। हम हर अलग अलग slides को अलग अलग effect दे सकते हैं लेकिन एक slide पर एक ही effect लगाया जा सकता है।

ट्रांसजिशन(Transition): इस फीचर का प्रयोग करके आप अपने स्लाईड को और अधिक उपयोगी और प्रभावशाली बना सकते हैं।  जब एक स्लाईड से दूसरे स्लाईड में जाते हैं तो उसमें एक एफ़ेक्ट दिया जाता है । इसी को transition कहा जाता है । हर अलग अलग स्लाईड पर एफ़ेक्ट दिया जा सकता है या एक ही स्लाईड पर भी एफ़ेक्ट दिया जा सकता है ।  

PPT फाइल को कैसे खोल सकते है? जब कोई ppt फाइल अच्छे से सेव है तो आप उसे आसानी से उस पर डबल क्लिक करके खोल सकते हैं ।

Leave a Comment