राष्ट्रीय कामधेनु योजना 2022 आवेदन फॉर्म |Pradhan Mantri Kamdhenu Yojana

राष्ट्रीय कामधेनु योजना 2022 ऑनलाइन आवेदन | Pradhan Mantri Kamdhenu Yojana: हमारा देश इस समय दुनिया के उन देशों में से एक है जहां सबसे ज्यादा पशुपालन किया जाता है। हमारे देश में पशुपालन के क्षेत्र में भी कई ऐसे व्यवसाय चल रहे हैं, जिनका टर्नओवर भी अरबों में है, लेकिन यह वह व्यवसाय है जो संगठित तरीके से काम करता है। 

एक निश्चित सीमा से बंधे व्यवसाय अक्सर अच्छी योजना के अभाव में घाटे में चले जाते हैं। लेकिन इसमें कोई दो राय नहीं है कि यह व्यवसाय संभावनाओं से भरा है। पशुपालन में न केवल दुग्ध उत्पादक पशुओं के पालन को गिना जाता है बल्कि मत्स्य पालन, मुर्गा पालन आदि को भी गिना जाता है। 

इन सभी को प्राथमिक व्यवसाय में गिना जाता है, प्राथमिक व्यवसाय देश की अर्थव्यवस्था में बहुत योगदान देता है, लेकिन इसके बावजूद प्राथमिक व्यवसाय करने वाले लोग अधिक कमाई नहीं कर पाते हैं। वर्तमान केंद्र सरकार देश में प्राथमिक व्यवसायों को बढ़ावा देने में तेजी से लगी हुई है। ऐसे प्राथमिक व्यवसायों को प्रोत्साहित करने के लिए ही विभिन्न योजनाएं चलाई जा रही हैं।

इसे भी जरूर पढ़ें:- किसान क्रेडिट कार्ड योजना 2022

और उनमें से एक है राष्ट्रीय कामधेनु योजना। यदि आप राष्ट्रीय कामधेनु योजना के बारे में नहीं जानते हैं तो यह लेख आपके लिए बहुत फायदेमंद होने वाला है। इस लेख में हम राष्ट्रीय कामधेनु योजना के बारे में जानेंगे और इस योजना का लाभ कैसे उठाएं यानी आरकेएस पंजीकरण पर भी चर्चा की जाएगी। 

राष्ट्रीय कामधेनु योजना 2022 के बारे में जानकारी

सरकारी योजना का नामराष्ट्रीय कामधेनु आयोग योजना 2021-22
द्वारा लॉन्च किया गयाभारत की केंद्र सरकार
योजना उपलब्ध के लिएपैन इंडिया
योजना श्रेणीसरकारी योजना 2021
संपर्क नंबर011-25871187, 011-25871107 rkamdhenu-aayog@gov.in

कामधेनु डेयरी योजना 2022 की मुख्य विशेषताएं

  • सरकार ने देशी गाय के उच्च तकनीक वाले डेयरी फार्म को बढ़ावा देने के लिए कामधेनु डेयरी योजना शुरू की है।
  • कामधेनु डेयरी योजना के तहत सरकार ने 30 जून तक आवेदन मांगे हैं। इस योजना में युवाओं को डेयरी से स्वरोजगार दिया जाएगा।
  • इसके तहत राज्य के किसान, पशुपालक, गौ किसान, महिला, पुरुष और युवा सभी पात्र हैं।
  • योजना का संचालन पशुपालन विभाग के माध्यम से किया जाएगा।
  • योजना की प्रजनन नीति के अनुसार दुधारू देशी गायों को समृद्ध कर उन्नत गायों की डायरी का प्रचार-प्रसार कर सकता है।

राष्ट्रीय कामधेनु योजना क्या है? 

पशुपालन और मत्स्य पालन को बढ़ावा देने के लिए देश की केंद्र सरकार द्वारा राष्ट्रीय कामधेनु योजना शुरू की गई है। इस योजना के लिए केंद्र सरकार ने 750 करोड़ रुपये का बजट तय किया है।तो वास्तव में यह योजना बड़े पैमाने पर चलाई जा रही है। राष्ट्रीय कामधेनु योजना पशुपालन और मत्स्य पालन के क्षेत्र में केंद्र सरकार द्वारा चलाई जा रही सबसे अच्छी योजनाओं में से एक है। 

इस योजना का लाभ मुख्य रूप से देश के किसानों को दिया जाएगा ताकि वे एक अतिरिक्त आय उत्पन्न कर सकें और अधिक लाभ कमा सकें। राष्ट्रीय कामधेनु योजना के तहत यदि कोई व्यक्ति पशुपालन के क्षेत्र में व्यवसाय शुरू करने के लिए या स्टार्टअप के लिए कर्ज लेता है तो उसे ब्याज में छूट दी जाती है। इस योजना के तहत सामान्य रूप से ऋण लेने वाले लोगों को ब्याज में 2% तक और प्राकृतिक आपदाओं के मामले में 3% तक की छूट दी जाती है यानी कुल मिलाकर योजना का लाभ लेने पर आवेदक को 5% तक की छूट मिल सकती है। 

इसे भी जरूर पढ़ें:-प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना 2022

इस योजना के तहत न केवल किसानों और अन्य लोगों को पशुपालन या मत्स्य पालन के क्षेत्र में अपना व्यवसाय शुरू करने के लिए ऋण लेने पर ब्याज सबवेंशन दिया जाएगा, बल्कि उन्हें अन्य प्रकार के लाभों का लाभ उठाने का भी मौका मिलेगा। इस योजना का लाभ लेने वाले किसानों को सरकार की ओर से क्रेडिट कार्ड दिया जाएगा। जिसके माध्यम से किसानों को हर महीने 500 रुपये की राशि आवंटित की जाएगी। इस योजना के तहत केंद्र सरकार गोकुल आयोग का भी गठन कर रही है, जिससे पशुपालन करने वाले लोगों को अप्रत्यक्ष लाभ मिले।

राष्ट्रीय कामधेनु डेयरी योजना के मुख्य उद्देश्य क्या हैं?

केंद्र सरकार द्वारा चलाई जा रही राष्ट्रीय कामधेनु योजना 750 करोड़ के बजट से चल रही है, जिससे स्पष्ट है कि यह योजना अच्छे स्तर पर चल रही है। दरअसल, वर्तमान केंद्र सरकार देश की अर्थव्यवस्था को ऊपर उठाने के लिए प्राथमिक व्यवसायों को बेहतर बनाने की कोशिश कर रही है और उनके लिए एक विशेष बुनियादी ढांचा विकसित करने पर ध्यान केंद्रित कर रही है ताकि प्राथमिक व्यवसाय करने वालों को भी अच्छी आमदनी हो सके। . राष्ट्रीय कामधेनु योजना के तहत लोगों को पशुपालन और मत्स्य पालन के क्षेत्र में व्यवसाय शुरू करने के लिए कर्जमाफी दी जा रही है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य लोगों को इन क्षेत्रों के प्रति प्रोत्साहित करना है।

Rashtriya Kamdhenu Yojana 2022 के लिए पात्रता क्या है?

राष्ट्रीय कामधेनु योजना केंद्र सरकार द्वारा संचालित एक बेहतरीन योजना है, जिसका लाभ मुख्य रूप से पशुपालन के क्षेत्र में व्यवसाय शुरू करने वाले लोगों को मिलता है, लेकिन इस योजना का लाभ लेने के लिए केंद्र सरकार ने कुछ पात्रता तय की है:

  • लागत का 10 प्रतिशत तक किसान को स्वयं वहन करना होगा।
  • योजना का लाभ लेने के लिए किसान को एक परियोजना तैयार करनी होती है जिसकी लागत 36 लाख से अधिक नहीं होनी चाहिए।
  • देसी नस्ल की गाय होनी चाहिए और दूध का उत्पादन कम से कम 10 से 12 लीटर प्रतिदिन होना चाहिए।
  • लाभार्थी के पास क्षेत्र में कम से कम 3 वर्ष का अनुभव होना चाहिए।
  • लाभार्थी पहले से ही ऐसी किसी योजना का लाभ न ले रहा हो।

Rashtriya Kamdhenu Yojana 2022 के लिए ऑनलाइन आवेदन

कामधेनु डेयरी योजना केंद्र सरकार द्वारा संचालित सबसे अच्छी योजनाओं में से एक है। इस योजना के लिए अभी तक कोई भी ऑफिसियल वेबसाइट घोसित नहीं की है, जो भी इस योजना के लिए आवेदन करना चाहते है वे ऑफलाइन आवेदन कर सकते हैं।

राष्ट्रीय कामधेनु डेयरी योजना के बारे में अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें:- Click Here

Pradhan Mantri Kamdhenu Yojana Contact Number

राष्ट्रीय कामधेनु आयोग पशुपालन और डेयरी विभाग,
मत्स्य पालन, पशुपालन और डेयरी
डीएमएस कॉम्प्लेक्स (प्रशासनिक ब्लॉक) शादीपुर, नई दिल्ली – 110008
दूरभाष: 011-25871187, 011-25871107
ईमेल: rkamdhenu-aayog@gov.in

राष्ट्रीय कामधेनु योजना 2022 के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

प्रश्नराष्ट्रीय कामधेनु योजना क्या है ?

उत्तर- राष्ट्रीय कामधेनु योजना में सरकार उन लोगो की मदद करेगी जो पशु पालन करते हैं या इसकी सुरुआत करना चाहते हैं।

प्रश्नराष्ट्रीय कामधेनु योजना में सरकार का कितना बजट है ?

उत्तर- राष्ट्रीय कामधेनु योजना में सरकार का 750 करोड़ रूपए का बजट है।