UP Mukhyamantri Fellowship Yojana @cm fellowship upsdc gov in

मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना ऑनलाइन|मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना|UP Fellowship Yojana|UP CM Fellowship Yojana| यूपी मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना|UP CM Fellowship Yojana Apply Online 2022:उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यूपी के पिछड़े ब्लॉकों के विकास के लिए UP mukhyamantri fellowship yojana शुरू की है। दरअसल पिछले मंगलवार को कैबिनेट की बैठक में मुख्यमंत्री फेलोशिप कार्यक्रम शुरू करने को अपनी मंजूरी दी थी। इसके तहत राज्य के 100 पिछड़े ब्लॉकों में विकास की गति को कैसे बढ़ाया जाए इस पर फोकस किया जाएगा। इस पर शोध कार्य करने के लिए हर ब्लॉक के लिए एक शोध छात्र की नियुक्ति की जाएगी।

दरअसल सरकार का प्रयास है कि सरकारी योजनाओं के क्रियान्वयन में आ रही कमियों को दूर करने और उनका समाधान निकालने के लिए शोधार्थियोंं का सहारा लिया जाए।राज्य सरकारें छात्रों के लिए काफी योजनाएं पेश करती हैं। इनमें से एक फेलोशिप योजना होती है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने फेलोशिप योजना शुरू की है। ये यूपी के पिछड़े ब्लॉकों के विकास के लिए शुरू की गयी है। इस स्कीम का नाम है मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यूपी कैबिनेट अपनी एक बैठक में मुख्यमंत्री फेलोशिप कार्यक्रम को मंजूरी दे चुकी। योजना के तहत राज्य के 100 पिछड़े ब्लॉकों में विकास की गति को रफ्तार देने पर ध्यान दिया जाएगा।

UP Mukhyamantri Fellowship Yojana

मुख्यमंत्री फेलोशिप कार्यक्रम शुरू करने के पीछे योगी आदित्यनाथ सरकार की मंशा इसमें चयनित होने वाले युवाओं की ऊर्जा, तकनीक व नये दृष्टिकोण का लाभ आकांक्षात्मक विकास खंड में प्राप्त करना है। इसमें युवाओं को पारिश्रमिक के रूप में 30 हजार रुपये प्रतिमाह की दर से भुगतान किया जाएगा। इसके अतिरिक्त भ्रमण के लिए 10 हजार रुपये प्रतिमाह का भुगतान किया जाएगा।

टैबलेट खरीदने के लिए एकमुश्त 15 हजार रुपये दिए जाएंगे। चयनित युवाओं को यथासंभव विकास खंड में ही आवासीय सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। फेलोशिप कार्यक्रम के तहत चयनित युवाओं को एक वर्ष के लिए रखा जाएगा। सक्षम स्तर से अनुमोदन के बाद इनकी अवधि एक वर्ष के लिए और बढ़ाई जा सकती है। कार्यक्रम अवधि के दौरान युवाओं को जिलाधिकारी तथा मुख्य विकास अधिकारी की निगरानी में कार्य करना होगा।

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना 2022

योजना का नामयूपी सीएम फेलोशिप योजना
वर्ष2022
योजना को शुरू करने का श्रेयमाननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ
कौन-कौन आवेदन करने के पात्र हैग्रेजुएशन में 60% अंक प्राप्त करने के पश्चात अनुसंधान स्थान की तलाश में है
सेलेक्ट होने वाले छात्रों की संख्या100 छात्र
अधिकारिक वेबसाइटजल्द ही लांच की जाएगी

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना के उद्देश्य

इस कार्यक्रम को शुरू करने का मुख्य कारण विकास खंड में युवाओं की ऊर्जा, प्रौद्योगिकी और नए विचारों का उपयोग करना है ताकि राज्य में पहले से चल रहे कार्यक्रम लोगों तक आसानी से पहुंच सकें। इस कार्यक्रम को शुरू करने का मुख्य कारण विकास खंड में युवाओं की ऊर्जा, प्रौद्योगिकी और नए विचारों का उपयोग करना है ताकि राज्य में पहले से चल रहे कार्यक्रम लोगों तक आसानी से पहुंच सकें।

UP CM Fellowship Yojana से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण बातें

  • इस योजना के क्रियान्वयन एवं प्रबंधन का काम नियोजन विभाग द्वारा किया जाएगा।
  • यह कार्यक्रम एक पूर्णकालिक कार्यक्रम है। इसलिए चयन किए गए युवाओं को इस कार्यक्रम की अवधि के दौरान अन्य रोजगार, असाइनमेंट एवं अन्य पूर्णकालिक अध्ययन/कार्य आदि करने की अनुमति नही है।
  • यूपी मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना  फेलोशिप कार्यक्रम की अवधि पूरी हो जाने के बाद शोधार्थियों को स्थाई सेवा/ रोजगार प्रदान करने का आश्वासन नहीं देती है।
  • सभी चयनित युवाओं (शोधार्थियों) के लिए कार्यालय का समय वही होगा जो उस कार्यालय के अन्य कर्मचारियों के लिए है।
  • शोधार्थियों को आवश्यकतानुसार ज्यादा घंटे काम करने और यात्रा करने की आवश्यकता हो सकती है।
  • युवाओं को फेलोशिप कार्यक्रम के तहत संबंधता के दौरान अपना मेडिकल फिटनेस सर्टिफिकेट लेकर आना जरूरी है। युवाओं के चयन के बाद उनका पुलिस सत्यापन किया जाएगा।
  • चयनित युवाओं को प्रस्ताव पत्र प्राप्त होने के 30 कार्य दिवस में संबंध कार्यालय में योगदान प्रस्तुत करना होगा। वरना चयन को रद्द कर दिया जाएगा।
  • फेलोशिप कार्यक्रम के दौरान शोधार्थी किसी भी राजनीतिक आंदोलन में भाग नहीं ले सकता है।
  • जनपद/विकासखंड स्तर पर तैनात हुए शोधार्थियों को व्यापक भ्रमण करना पड़ सकता है।

CM Fellowship Programme apply online New Updated

यूपी की योगी सरकार (Yogi government) ने शोध छात्रों को सुनहरा अवसर देने जा रही है. सरकार ने यूपी के पिछड़े ब्लॉकों के विकास के लिए मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना शुरू की है. इस योजना के बारे में यूपी के कैबिनेट मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने कहा कि शोधार्थियों की नियुक्ति एक साल के लिए की जाएगी, जिसके दौरान वे अपने-अपने जिलों के जिलाधिकारी और मुख्य विकास अधिकारी के अधीन काम करेंगे. सरकार अब शोधार्थियों पारिश्रमिक के रूप में 30 हजार रुपये प्रतिमाह सैलरी, अतिरिक्त भ्रमण के लिए 10 हजार प्रति माह और टेबलेट खरीद के लिए एकमुश्त 15 हजार रुपये देने का ऐलान किया है

UP CM Fellowship Yojana

यूपी के आंकाक्षी जिलों में शोध छात्रों की होगी तैनाती योजना के तहत शोध छात्रों को विभिन्न विकास परियोजनाओं और योजनाओं की निगरानी और मूल्यांकन के लिए आकांक्षी ब्लॉकों में काम करने के लिए चुना जाएगा। सरकार 100 ब्लॉक के लिए 100 शोधकर्ताओं का चयन करेगी। वे कार्यान्वित की जा रही विभिन्न योजनाओं का आकलन करने के लिए सर्वेक्षण करेंगे, कार्यान्वयन प्रक्रिया की समीक्षा करेंगे, प्रारंभिक डेटा का विश्लेषण करेंगे, कार्यक्रमों के कार्यान्वयन में समस्याओं का समाधान ढूंढेंगे, यदि कोई हो। उन साधनों का सुझाव देंगे जिनके माध्यम से लोगों को इन योजनाओं से लाभान्वित किया जा सकता है।

फेलोशिप की अवधि एक साल के लिए बढ़ सकती है चयनित शोधकर्ताओं को निर्धारित विकास खंड में रहना आवश्यक होगा। फेलोशिप की अवधि को केवल एक वर्ष और बढ़ाया जा सकता है। शोधकर्ताओं को जिलाधिकारी एवं मुख्य विकास अधिकारी के अधीन कार्य करना होगा। चयन के लिए सरकार कृषि, ग्रामीण विकास, पंचायती राज, वन, पर्यावरण, शिक्षा, स्वास्थ्य, स्वच्छता, पोषण, कौशल विकास, ऊर्जा, पर्यटन और संस्कृति, डेटा साइंस, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, आईटी के क्षेत्र के छात्रों और शोधकर्ताओं पर विचार करेगी।

UP Scholarship Status 2022-23

इन क्षेत्रों में अध्ययन करने वाले युवाओं का होगा चयन

  • कृषि, ग्रामीण विकास, पंचायतीराज एवं संबद्ध क्षेत्र
  • वन, पर्यावरण एवं जलवायु
  • शिक्षा, स्वास्थ्य, स्वच्छता, पोषण एवं कौशल विकास
  • ऊर्जा एवं नवीकरणीय ऊर्जा
  • पर्यटन एवं संस्कृति
  • डाटा साइंस आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, आइटी, आइटीईएस, जैव प्रौद्योगिकी, मशीन लर्निंग डाटा गवर्नेंस
  • बैंकिंग, वित्त एवं राजस्व
  • लोक नीति एवं गवर्नेंस

PM Modi Scholarship 2022 Apply Online

यूपी मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना पात्रता मानदंड

  • चयन के लिए अर्हता प्राप्त करने के लिए, एक उम्मीदवार को एक प्रमुख कॉलेज या विश्वविद्यालय से प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण होना चाहिए या स्नातक में न्यूनतम 60% प्राप्त करना चाहिए।
  • केवल 40 वर्ष या उससे कम आयु वालों पर ही विचार किया जाएगा।
  • इसका लाभ यूपी के सभी विश्वविद्यालयों से जुड़े शोध छात्रों को मिल सकता है।
  • छात्रों के लिए जल्द ही इसके लिए सरकार की ओर से विज्ञापन निकाला जाएगा।
  • सरकार इन शोधार्थियों की मेधा का लाभ उठाकर पिछड़े जिलों का कायाकल्प करना चाहती है।

यूपी मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना जरूरी दस्तावेज

जरूरी दस्तावेजों में सबसे पहले: 

  • आवेदक का स्टेट डोमिसाइल होना जरूरी है जिससे कि पता चले यह यूपी का ही निवासी है 
  • ग्रेजुएशन मार्क्स सर्टिफिकेट होना जरूरी है 
  • कोई भी कंप्यूटर या आईटी से संबंधित प्रमाण पत्र होना जरूरी है 
  • आईडिया आधार कार्ड 
  • मोबाइल नंबर 
  • ईमेल आईडी
  • आय प्रमाण पत्र,
  • जाति प्रमाण पत्र,
  • पासपोर्ट साइज फोटो

PM YASASVI Scheme 2022 Application Form

UP CM Fellowship Yojana Apply Online 2022

  • सबसे पहले आपको योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है
  • वेबसाइट का होम पेज आपकी स्क्रीन पर खुल जाएगा
UP Mukhymantri Fellowship Yojana
  • अब आपको होम पेज पर मौजूद दिशा निर्देश पढ़ने होंगे
  • इसके बाद आपको सभी शर्तें स्वीकार करते हुए Proceed ऑप्शन पर क्लिक करना है
  • इसके बाद आपके सामने एक रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुल जाएगा
  • इस फार्म में आपको अपनी सभी जरूरी जानकारी प्रदान करनी होगी जैसे नाम, जेंडर, जन्मतिथि, नागरिकता, बाप का नाम, मां का नाम, क्वालिफिकेशन, मोबाइल नंबर, एड्रेस, वगैरह
यूपी मुख्यमंत्री फेलोशिप योजना
  • इसके बाद आपको अपना पासपोर्ट साइज फोटो एवं हस्ताक्षर अपलोड करने होंगे
  • अब आपको प्रदान की गई सभी जरूरी जानकारी को एक बार चेक करना है
  • अंत में आप को सबमिट के ऑप्शन पर क्लिक कर देना है
  • इस तरीके से आप सफलतापूर्वक रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं

Leave a Comment