[रजिस्ट्रेशन] यूपी मुर्गी पालन योजना 2021 ऑनलाइन आवेदन

यूपी मुर्गी पालन योजना 2021 ऑनलाइन आवेदन: उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य में लोगों को स्वरोजगार सुरु करने के लिए कुक्कुट पालन ऋण योजना की शुरूआत की है। आवेदक मुर्गी पालन योजना के तहत आवेदन करके उत्तर प्रदेश में Murgi Palan Yojana पंजीकरण आवेदन कर सकते हैं, जिससे इस क्षेत्र में रोजगार के अवसर बढ़ेंगे और लोगो को और सरकार को लाभ होगा। 

जिस प्रकार योगी सरकार ने पशुपालन के लिए ऋण की योजना की सुरुआत की थी उसी प्रकार कुक्कुट पालन बैंक ऋण के तहत लोगों को अपना स्वयं का व्यवसाय सुरु करने में बैंक से सब्सिडी पर ऋण दिया जाएगा जिसके लिए पंजीकरण की जानकारी नीचे दी गई है। 

योगी सरकार ने मुर्गी पालन योजना के तहत पोल्ट्री व्यवसाय को बढ़ावा देने के लिए आकर्षक और व्यावहारिक पोल्ट्री विकास नीति जारी की है. इसके साथ हीउत्तर प्रदेश कुक्कुट विकास परियोजना का उद्देश्य छोटे कुक्कुट किसानों को लाभ पहुंचाना भी है। 

जिसके लिए राज्य सरकार इन किसानो को बढ़ावा देने के लिए तरह-तरह के सहयोग दे रही है. किसान भाई या कोई भी युवा मुर्गी पालन योजना से अपनी स्थायी आय सुनिश्चित कर सकता है। इसके साथ ही खेती, पशुपालन, मुर्गी पालन के साथ-साथ किसान भाई भी अपनी आय में वृद्धि कर सकते हैं।

दोस्तों अगर आप उत्तर प्रदेश के नागरिक हैं और अपना खुद का व्यवसाय सुरु करने की सोच रहे हैं, तो मुर्गी पालन योजना आपके लिए सही अवसर है। अक्सर देखा जाता है कि लोग अपना काम खुद करना चाहते हैं लेकिन पैसे की कमी के कारण वे जीवन भर काम शुरू नहीं कर पाते हैं।

ऐसे लोगों के लिए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा  कुक्कुट पालन ऋण योजना शुरू की गई है। योगी सरकार द्वारा चलाई जा रही इस योजना के माध्यम से कुक्कुट किसान या कुक्कुट पालनकिसानो के लिए कर्ज की व्यवस्था की जाएगी। इसके साथ ही देश को आत्मनिर्भर बनाने में मुर्गी पालन अहम भूमिका भी निभा सकता है।

इसे भी जरूर पढ़ें:-  यूपी विधवा पेंशन योजना 2021

अगर आप इस योजना में आवेदन करना चाहते हैं या मुर्गी पालन ऋण योजना योजना से संबंधित कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आप इस लेख को अंत तक पढ़ें।उत्तर प्रदेश में यह योजना केवल पोल्ट्री किसानों की आय बढ़ाने और इस व्यवसाय को आगे बढ़ाने के लिए शुरू की गई है । कुक्कुट पालन को गति देने के लिए कुक्कुट विकास नीति जारी की गई है।

कुक्कुट पालन योजना के लिए आवश्यकताएँ

दोस्तों ज्यादातर हमारे देश या विदेश में अधिक अंडे देने के लिए सबसे अच्छी नस्ल सफेद मुर्गी होती हैं जिसे “व्हाइट लेग हॉर्न” भी कहा जाता है। मांस उत्पादन के लिए कोर्निस, न्यूहेपशायर, असील, चटगांव आदि की नस्लें होती हैं। मुर्गी पालन के लिए हमेशा ऐसी मुर्गियां लगानी चाहिए जो बड़े अंडे देने वाली हों। 

एक अच्छे मुर्गे का चयन करते समय निम्नलिखित बातों का ध्यान रखना चाहिए। एक अच्छे मुर्गे का सिर चौड़ा होना चाहिएन कि संकरा, और न ही गोल होना चाहिए। शिखा लाल और चमकदार होना चाहिए, पेट बड़ा और त्वचा कोमल और लचीली होनी चाहिए। जघन स्थान चौड़ा और योनी अंडाकार होनी चाहिए। मुर्गी फार्म खोलने के लिए निम्नलिखित चीजें आवश्यक होती हैं:

  •     पोल्ट्री हाउस
  •     छोटा दाना
  •     पौधा-घर
  •     चूजे या बड़े मुर्गियां
  •     बीमारियों से बचाव के लिए टीके की दवाएं
  •     अंडे का डिब्बा
  •     लाइटिंग की वेवस्था
  •     गर्म स्थान

इसे भी जरूर पढ़ें:-  यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना 2021

नार्मल मुर्गियाँ साल में लगभग 250 से 300 अंडे देती हैं, जबकि देशी मुर्गियाँ केवल 50-60 अंडे देती हैं। इन मुर्गियों को साल भर अंडे देने के बाद बेच देना चाहिए क्योंकि इनकी अंडे देने की क्षमता कम हो जाती है, जिससे आय भी कम हो जाता है। मुर्गी पालन में मुर्गियों के आहार पर 65-70 प्रतिशत खर्च किया जाता है। इसलिए मुर्गों की निराई और गुड़ाई समान रूप से करनी चाहिए।

मुर्गियों के लिए संतुलित आहार

1) मुर्गियों में स्वास्थ्य और उत्पादन क्षमता बनाए रखने के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी, शर्करा, स्नेहक, प्रोटीन, खनिज और विटामिन की आवश्यक होती हैं। जिस आहार पर मुर्गियां स्वस्थ रहती हैं, उनकी वृद्धि अच्छी होती है और वे अधिक अंडे देती हैं उसे संतुलित आहार भी कहते हैं।

2) मुर्गीपालन के लिए घर पर ही भोजन का मिश्रण तैयार कर सकते हैं। अगर घर में इसे बनाने में कोई दिक्कत आती है तो आप इसके लिए बाजार से तैयार मिश्रण भी खरीद सकते हैं और अपने मुर्गियों को खिला सकते हैं. मुर्गियों को पहली खुराक अंडे सेने के 48 घंटे के बाद दी जाती है। मुर्गियों के लिए हमेशा साफ पानी की व्यवस्था होनी चाहिए।

यूपी मुर्गी पालन योजना 2021 क्या है

दोस्तों हम सभी जानते हैं कि आज हमारे देश में कितने अंडे और मांस का सेवन किया जाता है। और आंकड़े यह भी बताते हैं कि देश में अंडे और मांस की मांग बहुत अधिक है, जबकि इसका कारोबार करने वाले लोग बहुत कम हैं।

इंडियन एकेडमी ऑफ न्यूट्रिशन के आंकड़े बताते हैं कि हमारे देश में एक व्यक्ति एक साल में लगभग 182 अंडे खाता है ,राष्ट्रीय उपलब्धता की बात करें तो यह 53 अंडे ही होते हैं अगर उत्तर प्रदेश की बात करें तो उत्तर प्रदेश में एक व्यक्ति एक दिन में 22 अंडे खाता है। 

इसे भी जरूर पढ़ें:- यूपी मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना 2021

यदि मांस की बात करें तो प्रति व्यक्ति इसकी वार्षिक खपत लगभग 11.00 किलोग्राम तक करता है, जबकि राष्ट्रीय उपलब्धता केवल 2.20 किलोग्राम है।ये आंकड़े स्पष्ट रूप से बताते हैं कि यह कारोबार किस तरह फल-फूल रहा है। शायद इसीलिए योगी सरकार ने पोल्ट्री लोन योजना शुरू की है.

यूपी मुर्गी पालन योजना में कितना मिलेगा ऋण

उत्तर प्रदेश की पोल्ट्री योजना के तहत पोल्ट्री फार्म खोले जा सकते हैं। फॉर्म खोलने की लागत का कुछ प्रतिशत आवेदक को वहन करना होगा, जबकि शेष पैसा बैंक से ऋण के रूप में दिया जाएगा। योजना के माध्यम से आवेदक 10 हजार पक्षियों या 30 हजार पक्षियोंके साथ व्यावसाय शुरू कर सकता है ।

30 हजार पक्षियों का व्यावसाय स्थापित करने के लिए 1.60 करोड़ रुपये की आवश्यकता होती है, जिसमें से आपको54 लाख रुपये देने होंगे और फिर 1.06 करोड़ रुपये का ऋण चुकाना होगा।

यदि आवेदक 10,000 पक्षियों का व्यावसाय स्थापित करता है, तो उसे 70 लाख रुपये की आवश्यकता होगी, जिसमें से 21 लाख रुपये स्वयं लगाने होंगे, जबकि 49 लाख रुपये का ऋण चुकाना होगा।

इसे भी जरूर पढ़ें:- यूपी बीसी सखी योजना 2021 ऑनलाइन फॉर्म

यूपी मुर्गी पालन योजना 2021 के लाभ

  • निम्नलिखित 10 हजार पक्षियों के लिए 49 लाख रुपये का बैंक ऋण लिया जा सकता है, जबकि 30 हजार मुर्गियों के पालन के लिए 1.06 करोड़ तक का ऋण दिया जाएगा।
  • उत्तर प्रदेश सरकार इस योजना के तहत लाइसेंस भी उपलब्ध करवाएगी देगी।
  • स्वच्छता का प्रमाण पत्र दिलाने में सरकार मदद भी करेगी।
  • राज्य में और रोजगार बढेंगे जिससे किसान को और सरकार को लाभ होगा।
  • लोगों की आर्थिक स्थिति में सुधार होगा।
  • राज्य में अंडे और मांस की मांग पूरी की जा सकेगी।
  • किसानों और पशुपालन की आय में वृद्धि होगी।

उत्तर प्रदेश मुर्गी पालन योजना के लिए पात्रता और शर्तें

  • आवेदकों के पास कम से कम 3 एकड़ जमीन होनी जरूरी है ।
  • भूमि राजमार्ग, पानी के स्रोत, जनसंख्या, आदि से 500 मीटर दूर होना चाहिए
  • लाभार्थी के पास माता पिता की खेती के लिए भूमि की छह एकड़ जमीन होना आवश्यक है।
  • केवल उत्तर प्रदेश के निवासी ही इस योजना में आवेदन कर सकते हैं।
  • बैंक में बचत खाता होना अनिवार्य है ।

यूपी मुर्गी पालन योजना 2021 के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • वोटर आईडी कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट या आधार कार्ड में से कोई एक देना अनिवार्य है ।
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • एड्रेस प्रूफ में राशन कार्ड, बिजली बिल, पानी का बिल , इनमें से एक जमा करना अनिवार्य है .
  • आपके प्रोजेक्ट या प्रोजेक्ट रिपोर्ट का पूरा विवरण
  • बैंक खाते की पूरी जानकारी देनी होगी

इसे भी जरूर पढ़ें:- UP COVID Test Report List Online

अप पोल्ट्री फॉर्म योजना पंजीकरण 2021

  1. अगर आप अभी इस योजना में आवेदन करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको सबसे पहले योजना से जुड़ा फॉर्म लेना होगा और फॉर्म भरने के बाद बैंक में जमा करना होगा। सभी जानकारी सही पाए जाने पर आपको बैंक की ओर से लोन दिया जाएगा।
  2. आप इस लिंक पर क्लिक  करके  http://www.animalhusb.upsdc.gov.in/en इस योजना से संबंधित फॉर्म प्राप्त कर सकते हैं
  3. फॉर्म को आप ऑनलाइन ही भर सकते हैं
  4. फॉर्म में आपसे कुछ जानकारियाँ पूछी जायेगीं जैसे
  5. आपका नाम
  6. आपके पिता का नाम
  7. आपके माता का नाम
  8. आपका पूरा पता
  9. आपका मोबाइल नम्बर
  10. आपका आधार नम्बर
  11. आपका पैन नम्बर
  12. आपका बैंक अकाउंट नम्बर
  13. सभी जरुरी दस्तावेज
  14. आपकी फोटो
  15. आपका हस्ताक्षर
  16. ये सारी चीज़े करने के बाद आपको फोटो चिपकानी है और उसके उपर हस्ताक्षर करना है और सभी जरूरी दस्तावेज की फोटो कॉपी और ओरिजनल लेकर बैंक जाना है

1 thought on “[रजिस्ट्रेशन] यूपी मुर्गी पालन योजना 2021 ऑनलाइन आवेदन”

Leave a Comment